पवन व्यास ने किया बीकानेर का नाम रोशन, इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड में नाम दर्ज

129

डीएनआर रिपोर्टर. बीकानेर

पवन व्यास ने इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड में अपना नाम दर्ज करवा बीकानेर का नाम गौरान्वित किया है। बृजेशलाल व्यास के पुत्र व साफा व चंदा विशेषज्ञ गणेशलाल व्यास के भतीजे है। पवन ने अपने चाचा के सानिध्य में साफा व पगड़ी बांधने की कला को सीखा व समझा। वह 15-20 सैकेण्ड में साफा बांधने के साथ ही विभिन्न समाज व राज्यों में बांधी जाने वाली पगडिय़ा बांधने के साथ आंखों पर पट्टी बांध साफा बांधने की कला तथा 1-3 सेमी की हाथों की अंगुलियों व अंगूठे३ पर सबसे छोटे आकार के साफा व पगडिय़ां बांधने में महारत हासिल है। हर वर्ष वे 8-10 हजार साफे बांधते है। जिसमें बाड़मेरी, जालौरी, माहेश्वरी चुनरी साफा, बीकानेर गोल साफा, गुलाल केसरिया साफा, बटदार साफा आदि हाथों की अंगुलियों पर बांधकर अपना नाम इंडिया बुक ऑफ वल्र्ड रिकॉर्ड में नाम दर्ज करवाया है।