बीकानेर – चालीस फीसदी प्रिंसीपल तबादले के दावेदार

57

डीएनआर रिपोर्टर. बीकानेर

प्रदेश के चालीस फीसदी राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालयों में पदस्थापित प्रधानाचार्य तबादलों की बाट जोह रहे हैं। राज्य सरकार की ओर से पहली बार तबादलों के लिए ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया शुरू की गई। इसमें 4939 प्रधानाध्यापकों ने आवेदन किया है। इसके साथ ही 406 प्रधानाध्यापकों ने भी आवेदन किया है। बुधवार से व्याख्याताओं के तबादलों के लिए ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया शुरू होगी, जो 13 सितम्बर तक चलेगी। इसके बाद वरिष्ठ अध्यापकों से ऑनलाइन आवेदन लिए जाएंगे।

पन्द्रह फीसदी में पद खाली

प्रदेश में माध्यमिक शिक्षा के 14 हजार स्कूल संचालित है। इनमें से 15 प्रतिशत स्कूलों में प्रधानाचार्य व प्रधानाध्यापकों के पद रिक्त है। ऐसे में 85 प्रतिशत कार्यरत पदों में से चालीस फीसदी से अधिक ने घर के नजदीक के स्कूल का विकल्प दिया है। इनमें अधिकांश वे आवेदक है, जिन्हें कुछ माह पहले ही माध्यमिक शिक्षा निदेशालय ने व्याख्याता से प्रधानाचार्य स्तर पर पदोन्नत कर प्रिंसीपल के पद पर पदस्थापित किया था परन्तु बहुत से पदोन्नत प्रधानाचार्यों को गृह जिला नहीं मिल पाया था। अब सरकार की ओर से आवेदन मांगे जाने पर उन्होंने स्थानांतरण के लिए प्रयास शुरू कर दिए हैं।

पारदर्शिता पर अब भी संदेह

पूर्व सरकार के समय तृतीय श्रेणी शिक्षकों के ऑनलाइन आवेदन लेने के बाद जनप्रतिनिधियों की ऑफलाइन सूचियों से तबादले करने के कारण इस बार शिक्षकों को पारदर्शिता पर संदेह लग रहा है। उनका कहना है कि प्रत्येक जनप्रतिनिधि के द्वारा तबादलों की सूचियां पहले ही तैयार कर ली गई है। ऐसे में यदि सरकार ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया को पारदर्शिता पूर्वक पूरा करना चाहती है, तो केवल ऑनलाइन आवेदन करने वालों के ही तबादले होने चाहिए।

इसी महीने तबादला सूची

जिस रफ्तार से निदेशालय की ओर से तबादलों के लिए आवेदन लिए जा रहे हैं। उस लिहाज से सितम्बर माह के अंतिम सप्ताह में तबादलों की पहली सूची जारी हो सकती है। शिक्षा निदेशालय के सूत्रों की मानें, तो 30 सितम्बर तक प्रिंसीपलों के तबादलों की सूची जारी होगी। हालांकि आवेदन करने वालों में से महज पांच-दस फीसदी को ही राहत मिलेगी।

आज से व्याख्याताओं के आवेदन

तबादलों के लिए व्याख्याता बुधवार से ऑनलाइन आवेदन कर सकेंगे। इसके लिए व्याख्याताओं को 13 सितम्बर तक का समय दिया गया है। ऑनलाइन आवेदन में गलती रहने पर सुधार की गुंजाइश नहीं होगी तथा एक बार आवेदन को सबमिट करने के बाद पुन: आवेदन नहीं किया जा सकेगा। व्याख्याताओं के तबादला आवेदन के बाद वरिष्ठ अध्यापकों के तबादलों की ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया शुरू होगी।