अपनी ही सरकार के खिलाफ बोलने को मजबूर डूडी समर्थक

466

डीएनआर रिपोर्टर. बीकानेर

कांग्रेस के कद्दावर नेता और नोखा के पूर्व विधायक रामेश्वर डूडी की हत्या की साजिश के मामले में पुलिस की निष्क्रियता के खिलाफ अब आंदोलन की तैयारी हो रही है। कांग्रेस नेताओं को अपनी ही सरकार के खिलाफ एक बड़े आंदोलन की रूपरेखा बनानी पड़ रही है क्योंकि पुलिस ने इस मामले में अब तक प्राथमिकी तक दर्ज नहीं की है। यहां तक कि जेल में बंद आरोपियों को प्राडक्शन वारंट पूछताछ भी नहीं हो रही।
बीकानेर के सर्वसमाज व सर्वदलीय गणमान्य लोगों की आज जिला परिषद् बीकानेर में दोपहर 1:00 बजे बैठक रखी गई जिसमें श्रीमान् रामेश्वर डूडी पूर्व नेता प्रति पक्ष राजस्थान विधानसभा की हत्या करने की साजिश में हरियाणा पुलिस ने अपराधियों को गिरफ्तार किया मगर अभी तक हत्या की साजिश का खुलासा राज्य की पुलिस नहीं कर पाई है और ना ही राज्य सरकार द्वारा उनको जेड प्लस सुरक्षा मुहैया कराई गई है।
बीकानेर के सर्वसमाज व सर्वदलीय गणमान्य लोगों की एक संर्घष समिति बनाई गयी है। जिसका नाम सर्वसमाज व सर्वदलीय संघर्ष समिति रखा गया है। इस समिति में जिला प्रमुख सुशीला सींवर, विधायक गिरधारी महिया, पूर्व जिला प्रमुख पुर्णाराम चौहान, सांसद प्रत्याशी रहे मदनगोपाल मेघवाल, पूर्व विधायक रेवन्तराम पंवार, कृषि मंडी के पूर्व चेयरमैन व पूर्व शहर भाजपाध्यक्ष सहीराम दुसाद, कांग्रेस नेता शशिकांत शर्मा सहित बड़ी संख्या में नेताओं को इस कमेटी में शामिल किया गया है। खास बात यह है कि इस कमेटी में कांग्रेस के अलावा भाजपा व वामदलों के नेता भी शामिल है।
यह संघर्ष समिति आगामी समय में मांगें पूरी होने तक विभिन्न चरणों में संघर्ष करेगी । शनिवार को इस संबंध में आंदोलन की रूपरेखा मीडिया के समक्ष सार्वजनिक की जाएगी। आंदोलन को उपखंड मुख्यालयों तक ले जाने के लिए शुक्रवार व शनिवार को उपखंडों पर अलग अलग बैठकें होंगी। शुक्रवार को नोखा में पंचायत समिति मीटिंग हॉल में एक बजे, बीकानेर सदर में जाट धर्मशाला सांय 4 बजे, खाजूवाला में जाट धर्मशाला में सुबह 11बजे, श्रीडूंगरगढ़ में घुमचक्कर पर दोपहर तीन बजे, शनिवार को लूनकरनसर में शिव मंदिर पर सुबह ११ बजे, श्रीकोलायत में जाट धर्मशाला में सुबह 11बजे, बज्जू दोपहर 2 बजे सर्व समाज व सर्वदलीय संघर्ष समिति की बैठक होगी, जिसमें आंदोलन की रूपरेखा तय होगी।