बीकानेर में नकली मावे के बाद अब आई दूध डेयरियों की बारी

74

– दो दुग्ध डेयरी की जांच के बाद भरे सेंपल
– एक्सपाइरी डेट की कोल्ड ड्रिंक नष्ट
बीकानेर। त्योहारी सीजन में आमजन के स्वास्थ्य से खिलवाड़ करने वालों के खिलाफ स्वास्थ्य विभाग ने नकेल कसनी शुरू कर दी है। एक दिन पहले कई टन नकली मावे की संभावना के चलते माल नष्ट कराने के बाद सीएमएचओ डॉ. बीएल मीणा के नेतृत्व में स्वास्थ्य विभाग की टीम ने लूणकरनसर में दो बड़ी दुग्ध डेयरियों की जांच की और दूध के नमूने लिए। अचानक पहुंची टीम को देखकर एकबारगी हड़कम्प मच गया। हालांकि विभाग ने सैम्पल की जांच के बाद ही दूध की गुणवत्ता को लेकर कोई जानकारी देने की बात कही है।

लूणकरनसर में हनुमान डेयरी व मदर डेयरी पर मंगलवार सुबह स्वास्थ्य विभाग की टीम पहुंची और दूध भंडारण स्थलों आदि का निरीक्षण किया। उन्होंने मौके पर टंकियों में भरे दूध को देखा तथा दोनों ही स्थानों पर दूध के नमूने लिए। सीएमएचओ ने बताया कि दूध के सैम्पल को जांच के लिए भेजा गया है। रिपोर्ट आने के बाद ही कहा जा सकता है कि दूध की गुणवत्ता सही थी या नहीं।
खराब मिठाई फेंकी
दूध डेयरियों पर जांच के बाद टीम ने लूणकरनसर बाजार में मिठाई की दुकानों में घुसकर सेम्पल लिए। उन्होंने मौके पर दो दुकानों पर खराब मिठाई को फिंकवाया और नमूने लिए। सीएमएचओ डॉ. बीएल मीणा ने बताया कि खराब मिठाइयों को फेंकने व नमूने लेने के साथ ही दुकानों पर एक्सपाइरी डेट की कोल्ड ड्रिंक को मौके पर नष्ट करवाया। सीएमएचओ ने बताया कि आमजन के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। शुद्ध के लिए युद्ध अभियान के तहत आगामी दिनों में आकस्मिक जांच कर कार्रवाई की जाएगी। उल्लेखनीय है कि सोमवार को स्वास्थ्य विभाग की टीम ने सैटेलाईट अस्पताल के सामने एक कोल्ड स्टोरेज पर कार्रवाई कर कई टन कथित नकली मावा नष्ट करवाया और सैम्पल भरकर जांच के लिए भेजे। मंगलवार को लूणकरनसर में टीम ने कार्रवाई की।