गजनेर तहसील के 285 चकों में हजारों बीघा भूमि ‘रकबा राज’

13

डीएनआर रिपोर्टर. बीकानेर

उपनिवेशन विभाग की बीकानेर जिले की एक मात्र गजनेर तहसील में सीएडी चकों की रिकॉर्डराइटिंग का काम लगभग पूरा हो चुका है। लगभग तीन साल से चल रहे रिकॉर्ड राइटिंग कार्य में अब तक285 चकों का काम पूरा हो चुका है और केवल 21 चकों की रिकॉर्ड राइटिंग का काम ही बाकी रहा है। इन 285 चकों में हजारों बीघा सरकारी भूमि (रकबा राज) की सूचना उपनिवेशन आयुक्त को भेजी गई है। इसके आधार पर सरकार गजनेर तहसील में भूमि आवंटन को हरी झंडी दिखा सकती है लेकिन इसके लिए आयुक्त के माध्यम से सरकार को प्रस्ताव भेजना होगा, तब सरकार अधिसूचना जारी करेगी। फिलहाल बकाया चकों की रिकॉर्ड राइटिंग कार्य को लेकर प्रयास चलरहे हैं। इनमें कुछ चकों का रकबा बाप व नोखड़ा आदि से मिलना है। इसमें कुछ समय लग सकता है।
उपनिवेशन की तत्कालीन कोलायत तहसील एक, दो व तीन का राजस्व में विलय होने के कुछ माह बाद ही गजनेर में नई तहसील बनाई गई। नई तहसील को 306 नए सीएडी चक मिले। जिसकी रिकॉर्ड राइटिंग के बाद सरकारी भूमि आवंटन की उम्मीद जगी थी लेकिन 285 चकों की रिकॉर्ड राइटिंग में ही लम्बा समय गुजर गया।

भेजना होगा सरकार को प्रस्ताव

जानकारों की मानें, तो 285 चकों की रिकॉर्ड राइटिंग के बाद चिन्हित की गई सरकारी जमीन की सूचना उपनिवेशन आयुक्त को भेजी जा चुकी है। आयुक्त उक्त सूचना के आधार पर भूमि आवंटन संबंधी प्रस्ताव बनाकर सरकार को भेजे, तब सरकार उक्त जमीन की कीमत, कैटेगरी आदि निर्धारित करेगी और अधिसूचना जारी करेगी।