लेपटॉप चलाते ही छात्रों को नजर आएगा सीएम का संदेश

118

डीएनआर रिपोर्टर. बीकानेर

माध्यमिक शिक्षा बोर्ड अजमेर की 2018-19 की परीक्षा के राजकीय विद्यालयों के मेधावी विद्यार्थियों को मिलने वाले लेपटॉप मुख्यमंत्री के संदेश के इंतजार में अटके पड़े हैं। माध्यमिक शिक्षा निदेशालय की रा’य स्तरीय क्रय समिति ने करीब डेढ़ माह पहले लेपटॉप खरीद के लिए टेंडर प्रक्रिया पूरी कर ली लेकिन लेपटॉप के स्टार्टअप में मुख्यमंत्री का संदेश इन्टाल नहीं हो पाने के कारण लेपटॉप वितरण का कार्य अब तक शुरू नहीं हो पाया है। शिक्षा विभाग के अधिकारियों का कहना है कि जनवरी माह में लेपटॉप वितरण का कार्य पूरा हो जाएगा।
रा’य सरकार द्वारा आठवीं, दसवीं, बारहवीं, वरिष्ठ उपाध्याय व प्रवेशिका परीक्षा में रा’य स्तरीय वरीयता सूची व जिला स्तरीय वरीयता सूची में आने वाले राजकीय विद्यालयों में नामांकित मेधावी विद्यार्थियों को लेपटॉप का वितरण किया जाता है।

लिनोवा कम्पनी के 27900 लेपटॉप

निदेशालय स्तर पर गठित रा’य स्तरीय क्रय समिति ने इस बार लिनोवा कम्पनी के 27900 लेपटॉप खरीद का निर्णय किया है। जानकारी के अनुसार गत शिक्षा सत्र में आठवीं में रा’य स्तरीय वरीयता सूची में प्रथम छह हजार, दसवीं की वरीयता सूची में प्रथम 5900, व प्रवेशिका में प्रथम 100, बारहवीं में विज्ञान, कला व वाणि’य संकाय के सभी विद्यार्थियों के 5900 व वरिष्ठ उपाध्याय के प्रथम 100 विद्यार्थियों के साथ-साथ जिला स्तर पर आठवीं, दसवीं, बारहवीं (विज्ञान, कला, वाणि’य सहित) के प्रथम 100 विद्यार्थियों को लेपटॉप का वितरण किया जाना है।

गत वर्ष की भांति वितरण

गत वर्ष लेपटॉप का वितरण गार्गी पुरस्कार वितरण कार्यक्रम के दौरान शुरू किया गया। इस दौरान बालिका प्रोत्साहन योजना व गार्गीपुरस्कार के चेक भी वितरित किए गए। इस बार लेपटॉप वितरण साइकिल की भांति अद्र्धवार्षिक परीक्षा से पहले कराने का मानस था, जो पूरा नहीं हो पाया है।

सीएम की फोटो

पूर्व में कांग्रेस सरकार ने लेपटॉप योजना शुरू थी। इसमें आठवीं बोर्ड परीक्षा होने के कारण मेधावी विद्यार्थियों को टेबलेट का वितरण किया था तथा दसवीं, बारहवीं के विद्यार्थियों को लेपटॉप वितरित किए थे। इस बीच चुनाव आचार संहिता लग जाने व सरकार बदलने के कारण सैंकड़ों लेपटॉप का वितरण अटक गया था। भाजपा सरकार ने तत्कालीन मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का फोटो लेपटॉप में होने के कारण वितरण पर रोक लगा दी थी। हालांकि बाद में सीएम वसुंधरा राजे व शिक्षा रा’यमंत्री के संदेश लेपटॉप में प्रदर्शित किए गए।