सावधान! बीकानेर – आंधी अपने साथ उड़ा ले आ रही हैं पाकिस्तान से टिड्डियां

92

-इनको न तो पासपोर्ट और न ही वीजा की जरूरत
-किसानों की उड़ा रखी है नींद
बीकानेर/बज्जू। सीमावर्ती अपने खेतों में खड़ी फसलों को देख किसान अभी से अपने व अपने परिवार के लिए भविष्य का तानाबाना बुनने लगे है। किंतु सीमा पार पाकिस्तान से आंधी के साथ उड़कर आ रही टिड्डियों व धूलभरी आंधी ने किसानों के भविष्य के इस सपने को चकनाचूर कर दिया है। टिड्डियों के लगातार हो रहे हमले से किसानों के आंखों से नींद गायब हो गई है।
इनको नहीं पासपोर्ट, वीजा की जरूरत
धूलभरी आंधी व हवा के तेज झौंकों के साथ पाकिस्तान से उड़कर टिड्डियां सरहद को पार कर सीमावर्ती क्षेत्र जैसलमेर, बीकानेर के बज्जू क्षेत्र के खेतों को नुकसान पहुंचा रही है। इनको सीमा पार करने के लिए न तो किसी पासपोर्ट की जरूरत है और न ही वीजा की। आंधी व हवा के तेज झौंके ही इनके लिए काफी है। श्रीकोलायत के सीमावर्ती क्षेत्र स्थित कई खेतों की फसलों को टिड्डियां चट कर चुकी है। हालांकि टिड्डी नियंत्रण दल इन पर काबू पाने का प्रयास कर रहा है। इसके बावजूद बात नहीं बन पा रही है। जानकारी के मुताबिक जैसलमेर व बीकानेर के बाद अब टिड्डियों ने जोधपुर का रूख कर लिया है।
दो दिनों से चल रही कार्रवाई
पिछले दो दिनों से टिड्डी नियंत्रण के प्रयास किए जा रहे है। किंतु टिड्डियां छित्तरी होने के कारण विभाग की ओर से की जा रही नियंत्रण कार्रवाई काफी साबित नहीं हो रही है। बुधवार सुबह गजेवाला से फत्तूवाला के बारानी क्षेत्र में पहुंचा मौके पर पहुंचा। टिड्डी नियंत्रक दल व तहसील प्रशासन की सक्रियता के चलते टिड्डियों पर छिड़काव करके गजेवाला से भगाया। जिसके बाद वह दल बुधवार सुबह करीब दस किमी दूर फत्तुवाला की रोही में बारानी क्षेत्र में चला गया। जिसकी सूचना मिलने पर टिड्डी नियंत्रण दल ने टिड्डियों पर गाडिय़ों से केमिकल स्प्रे से टिड्डियों का खात्मा किया।
किसानों की उड़ी नींद
टिड्डियों के निरन्तर हो रहे हमले ने किसानों की नींद उड़ा दी है। गुरुवार को भी मौके पर पहुंच टिड्डी नियंत्रण दल व कृषि विभाग ने संयुक्त कार्रवाई करते हुए नगरासर गांव के निकट स्थित एक खेत में लगभग 20 हेक्टेयर में स्प्रे कर इन टिड्डियों का खात्मा किया गया। किंतु किसान मौसम की मार से आशंकित है कि आंधी व तेज हवा के साथ फिर से सीमा पार से टिड्डियों के आने की संभावना है।
मुआवजा मिले
उधर राष्ट्रीय किसान संगठन के तहसील अध्यक्ष चतराराम खीचड़ ने जिला कलक्टर को ज्ञापन भेजकर टिड्डियों से नुकसान हुई फसलों का सर्वे करवाकर किसानों को चौपट हुई फसलों का मुवावजा दिलवाने की मांग की है।

‘टिड्डी दल पूरी तरह से नियंत्रण में है। टिड्डियों पर पूरी तरह से विभाग नजर रखे हुए है। विभाग के कार्मिकों को टिड्डी नियंत्रण दल के साथ मिलकर काम करने के निर्देश भी दिए गए है। मैं खुद गुरुवार को नगरासर में मौजूद रहा। जहां से भी टिड्डी की सूचना मिल रही है। उस पर तुरंत कार्रवाई कर टिड्डियों का खात्मा किया जा रहा है।’
-जयदीप डोगले, सहायक निदेशक, कृषि विस्तार

‘प्रशासन पूरी तरह से इस काम में जुटा हुआ है। जहां से भी टिड्डियों के मिलने की सूचना मिल रही है। वहां आपसी तालमेल व समन्वय के साथ काम किया जा रहा है। बज्जू क्षेत्र में टिड्डियों की संभावना अब बहुत कम रह गई है।’
-हरिसिंह शेखावत, राजस्व तहसीलदार, बज्जू