विधानसभा में यह क्या कह दिया मंत्री बीडी कल्ला ने…मच गई दहशत, पढ़ें खबर

154

जयपुर। राजस्थान विधानसभा में गुरुवार को राज्य कर्मचारियों को 16 सीसीए की चार्जशीट देने के मामले में ऊर्जा मंत्री डॉ. बी. डी. कल्ला की एक टिप्पणी से प्रश्नकाल के दौरान पक्ष-विपक्ष के बीच घमासान शुरू हो गया। मामला बढते देख विधानसभा अध्यक्ष सी. पी. जोशी ने तुरन्त टिप्पणी सदन की कार्यवाही से हटा दी। इसके बाद विपक्ष शांत हुआ। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, प्रश्नकाल के दौरान भाजपा विधायक सूर्यकांता व्यास ने कर्मचारियों को 16 सीसीए के तहत प्रस्तावित चार्जशीट के मामले को लेकर सवाल किया। इस पर मंत्री ने कहा कि अब तक 16 सीसीए के 1030 प्रकरण विभिन्न स्तर पर लंबित हैं। विधायक व्यास उक्त जवाब से संतुष्ट नहीं हुई और कहा कि वे पूछ कुछ और रही हैं और मंत्री कुछ और जवाब दे रहे हैं। इस पर मंत्री ने कि मैने पूरी प्रक्रिया को लेकर जवाब दे दिया है। मैं डीओपी मंत्री रहा हूं, जो सदस्य सवाल उठा रही हैं। वे कभी मंत्री नहीं रहीं। उनको अनुभव नहीं है। 16 सीसीए की कार्यवाही में कहीं कोई नियमों का उल्लंघन नहीं हुआ। मंत्री डॉ. कल्ला की इस टिप्पणी के साथ ही विपक्ष ने उन्हें घेरते हुए हंगामा मचाना शुरू कर दिया। इस बीच, हंगामा बढते देखकर विधानसभा अध्यक्ष ने टिप्पणी सदन की कार्यवाही से हटा दिया। नेता प्रतिपक्ष गुलाब चंद कटारिया ने कहा कि मंत्री तो इतना बता दें कि 16 सीसीए के नोटिस का सबसे पुराना मामला कितने साल पहले का है। इस पर डॉ. कल्ला ने कहा कि अभी यह जानकारी मेरे पास नहीं है।