इन्दिरा गांधी फीडर में पानी की आवक 8872 क्यूसेक

50
IGNP Main Canal

बीकानेर। इन्दिरा गांधी फीडर में जहां गुरुवार को आरडी 496 से तीन बजे तक 8872 क्यूसेक पानी मिल रहा था। सिंचित क्षेत्र विकास ने शुक्रवार से चार समूहों में विभक्त कर एक समय में दो समूह में सिंचाई पानी देने का कार्यक्रम भी घोषित कर दिया है। ऐसे में इन्दिरा गांधी फीडर में पानी की आवक कम नहीं रहेगी। इसके चलते फीडर में पानी की आवक को बढ़ाए जाने की जरूरत है। जबकि नदियों के बांधों में कहीं पानी की आवक अ’छी तो कहीं ठीकठाक रही। जानकार नरेन्द्र आर्य के मुताबिक सतलुज नदी के भाखड़ा बांध का पूर्ण भराव 1690 फीट, क्षमता 07.500 एमएएफ है। जिसके मुकाबले गुरुवार सवेरे छह बजे इस बांध में पानी का लेवल 1615.27 फीट एवं क्षमता &.47 एमएएफ रही। जो कि कुल क्षमता का 46.24 प्रतिशत है। जबकि गत वर्ष इसी दिन लेवल 1501.68 फीट क्षमता 1.64 एमएएफ थी। इस बांध में गुरुवार को पानी की आवक 4694& क्यूसेक रही।
इसी प्रकार से ब्यास नदी पर पोंग डेम पूर्ण भराव 1400 फीट, क्षमता 06.690 एमएएफ के मुकाबले सवेरे छह बजे इस बांध में पानी का लेवल 1&27.98 फीट एवं क्षमता 2.465 एमएएफ थी। जो कि कुल क्षमता का &6.85 प्रतिशत है। जबकि गत वर्ष इसी दिन लेवल 1282.25 फीट क्षमता 1.24 एमएएफ रही। इस बांध में पानी की आवक 15792 क्यूसेक हो रही थी।
रावी नदी पर थीन डेम पूर्ण भराव 17&1.54 फीट, क्षमता 02.662 एमएएफ के मुकाबले सवेरे छह बजे पानी का लेवल 1675.54 फीट एवं क्षमता 1.694 एमएएफ थी। जो कि कुल क्षमता का 6&.6& प्रतिशत है। गत वर्ष इसी दिन लेवल 1669.89 फीट, क्षमता 1.5 एमएएफ थी। इस बांध में पानी की आवक 9749 क्यूसेक रही। इसी प्रकार से
चम्बल नदी पर गांधी सागर डेम पूर्ण भराव 1&12.00 फीट, क्षमता 5.9&7 एमएएफ के मुकाबले सवेरे लेवल 1261.25 फीट एवं क्षमता 0.896 एमएएफ थी। जो कि कुल क्षमता का 15.09 प्रतिशत है। जबकि गत वर्ष इसी दिन लेवल 1269.27 फीट क्षमता 1.27 एमएएफ थी। इस बांध में पानी की आवक &1&1.00& क्यूसेक हो रही थी।