पार्टियों की मार्केटिंग में, ग्राहक जैसा हो गया वोटर

अनुराग हर्ष. 'लोकसभा चुनाव का शोर थम गया है।' वैसे शोर ज्यादा था भी नहीं। चुनाव आयोग की सख्ती कहो या फिर सख्ती के बहाने नेताओं की ओर से धन बचाने की कवायद मान लो। शोर कम हो गया। कारण कोई भी रहा हो, लोकसभा चुनाव में विधानसभा चुनाव जितना हल्ला अब नहीं होता। न सिर्फ बीकानेर या नागौर शहर...

..भेडिय़ा कौन ?

लूणकरनसर के नेताजी ने अपनी ही पार्टी के प्रत्याशी के समर्थन में आयोजित सभा में अपने संबोधन में भेड़ की खाल में भेडिय़ों से बचने की द्घिअर्थी संबोधन के बाद राजनीतिक गलियारों में चर्चा छेड़ दी है। हालांकि समझने वाले तुरंत ही समझ गए और इसका असर यह रहा कि सभा के खत्म होने के बाद...

मतदान में आगे रहा है राजस्थान का सबसे उपजाऊ इलाका श्रीगंगानगर

डीएनआर ब्यूरो. जयपुर राजस्थान का धान का कटोरा कहे जाने वाले गंगानगर के मतदाता मतदान में भी आगे रहे हैं। चाहे वह पिछला लोकसभा चुनाव रहा हो या हालिया विधानसभा चुनाव, यहां के मतदाताओं ने खुलकर मतदान किया। 2014 के पिछले लोकसभा चुनाव में राज्य में सबसे अधिक 73.17 प्रतिशत मतदान इसी सीट के लिए हुआ था। गंगानगर लोकसभा क्षेत्र...