कांग्रेस सेवादल की किताब- ‘गोडसे-सावरकर में समलैंगिक संबंध’, मचा सियासी बवाल

89

नई दिल्ली/भोपाल/मुंबई
मध्य प्रदेश कांग्रेस सेवादल की ओर से स्वतंत्रता सेनानी विनायक दामोदर सावरकर को लेकर बांटी गई किताब पर सिसायी संग्राम छिड़ गया है। किताब में दावा किया गया है कि सावरकर के महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे के साथ अवैध संबंध थे। बीजेपी के सवाल उठाने के बाद अब शिवसेना ने भी मामले पर चुप्पी तोड़ते हुए इसे सावरकर का अपमान करार दिया है। शिवसेना सांसद संजय राउत ने कहा कि सावरकर महान थे और महान रहेंगे। उन्होंने कहा कि जो उनकी आलोचना करते हैं उनके दिमाग में गंदगी भरी हुई है। वहीं, हिंदू महासभा के अध्यक्ष चक्रपाणि ने इसे बेहूदा बताया और राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए उन्हें होमोसेक्शुअल (समलैंगिक) तक बोल दिया।
अखिल भारतीय हिंदू महासभा के अध्यक्ष स्वामी चक्रपाणि ने इस मुद्दे पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा, ‘यह हिंदू महासभा के पूर्व अध्यक्ष सावरकरजी के खिलाफ बिल्कुल बेहूदे आरोप हैं। इसी तरह हमने भी सुना है कि राहुल गांधी होमोसेक्शुअल हैं।’ सावरकर पर मचे घमासान पर महाराष्ट्र में कांग्रेस की सहयोगी शिवसेना ने भी कांग्रेस को आड़े हाथों लिया। शिवसेना सांसद संजय राउत ने कहा, ‘वीर सावरकर एक महान व्यक्तित्व थे और हमेशा रहेंगे। एक वर्ग उनके खिलाफ बोलता रहता है जो उनके दिमाग की गंदगी को दिखाता है कि कितना हद तक वे गिर सकते हैं।’
भोपाल में बांटी गई थी बुकलेट
दरअसल पूरा विवाद कांग्रेस सेवादल की ओर से बांटी गई किताब के बाद शुरू हुआ। इस बुकलेट पर लिखा है- ‘वीर सावरकर कितने वीर।’ भोपाल में आयोजित 10 दिवसीय ट्रेनिंग कैंप में इस किताब को बांटा गया, जिसमें महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे का भी जिक्र है। किताब में लिखा है कि गोडसे और सावरकर के बीच शारीरिक संबंध थे।
गिरिराज बोले- कांग्रेस के आदर्श जिन्ना हैं
केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने भी कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि वे सावरकर को गाली देते हैं क्योंकि उनके आदर्श जिन्ना हैं। बीजेपी की वरिष्ठ नेता उमा भारती ने सावरकर को लेकर सोनिया और राहुल गांधी पर निशाना साधा है। उन्होंने मामले में महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे की चुप्पी पर भी सवाल उठाए।
उमा भारती ने साधा निशाना
केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा, ‘वह दिन दूर नहीं जब वे (कांग्रेस) यह किताब पढ़ेंगे- जिन्ना कैसे नेता थे। कांग्रेस के आदर्श जिन्ना हैं इसलिए वे सावरकर को गाली देते हैं।’ उमा भारती ने कांग्रेस के साथ-साथ राहुल गांधी पर भी निशाना साधा। उमा भारती ने कहा, ‘वह दिन दूर नहीं जब गांधी परिवार जय श्रीराम और भारत माता की जय बोलेगा। महापुरुषों का अपमान करना कांग्रेस की आदत है। कांग्रेस का दिमागी संतुलन खो गया है।’ उन्होंने कहा कि उद्धव को मुख्यमंत्री पद प्यारा है। क्या उद्धव इस्तीफा देंगे?