Jaipur Violence : रात को फिर हिंसा, 15 पुलिस थाना क्षेत्रों में धारा 144 लागू, इंटरनेट सेवा बंद, 10 लोग घायल

168

जयपुर। राजस्थान की राजधानी जयपुर में दो समुदायों के बीच रविवार से शुरू हुआ विवाद अभी थमा नहीं है। जयपुर के 15 पुलिस थाना इलाकों में कर्फ्यू लगा हुआ है। इंटरनेट पर भी पाबंदी है। मंगलवार रात को तमाम प्रयासों के बावजूद फिर हिंसा हो गई। गंगापोल और उसके आस-पास के इलाकों में जमकर पथराव हुआ। रावलजी चौराहे और बदनपुरा इलाके में दोनों पक्ष फिर से आमने-सामने आ गए। एक पक्ष के लाेगाें ने झगड़े के बाद पथराव कर
दिया और 30 से अधिक वाहनों में तोड़फोड़ कर दी। पथराव में 10 लोग घायल हो गए।
उग्र भीड़ पर काबू पाने के लिए अतिरिक्त पुलिस बल बुलाया गया। पुलिस ने उपद्रवियाें पर आंसू गैस के गाेले छाेड़े और लाठियां भांजकर भीड़ को खदेड़ा। शहर के कई इलाकों में भारी मात्रा में पुलिस बल तैनात है। पुलिस ने 8 उपद्रवियों को हिरासत में लिया है और 5 लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी है। इन क्षेत्रों में लगाई गई है धारा 144 पुलिस कमिश्नर आनंद श्रीवास्तव ने बताया कि गलतागेट, रामगंज, सुभाष चाैक, माणक चाैक, ब्रह्मपुरी, काेतवाली, संजय सर्किल, नाहरगढ़, शास्त्रीनगर, भट्टा बस्ती, आदर्शनगर, माेतीडूंगरी, लालकाेठी, टीपी नगर और जवाहर नगर इलाके में धारा 144 लगाई गई है।

ऐसे शुरू हुआ था विवाद

जानकारी के अनुसार 11 अगस्त को चार दरवाजा के पास शिव मंदिर में कांवड़ चढ़ा रहे लोगों पर कुछ लोगों ने पथराव कर दिया था। इसके बाद से क्षेत्र में तनाव हाे गया। सोमवार रात को यह उग्र हो गया। भीड़ को काबू करने के लिए आंसू गैस के गोले दागे गए। पूरे इलाके में पुलिस बल तैनात किया गया। मंगलवार सुबह उपद्रवियों ने गलता गेट क्षेत्र में एक धार्मिक स्थल पर पथराव किया था। रात 10.30 बजे दो पक्षों में कहासुनी हुई और तनाव बढ़ गया। राजस्थान डीजीपी की प्रेसवार्ता जयपुर में हालात बिगड़ने पर डीजीपी को सफाई देने के लिए आगे आना पड़ा है। डीजीपी भूपेन्द्र सिंह ने मीडिया से रुबरु होते हुए बताया कि शहर में तीन दिनों में जो विवाद की घटनाएं हुई हैं, उन्हें लेकर 5 मुकदमे दर्ज किए गए हैं। शहर के 15 थाना इलाकों में धारा 144 लगा दी गयी है। अब तक उपद्रव मचाने वाले 15 लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

तीन हजार पुलिसकर्मी तैनात

जयपुर के संवेदनशील इलाकों में करीब 3 हजार पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है। धारा 144 को 5 दिनों तक के लिए लगाया गया है। अफवाहों को रोकने के लिए इंटरनेट सेवाएं बाधित की गयी है। स्वतंत्रता दिवस को लेकर डीजीपी ने कहा कि प्रदेशभर में सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। स्वतंत्रता दिवस को लेकर होने वाले समारोह स्थलों के बाहर अतिरिक्त सुरक्षा व्यवस्था की गई है।