रामनवमी की शोभायात्रा में गूंजा, जय-जय श्रीराम..

झांकियों ने मोहा शहरवासियों का मन, पूरा शहर हुआ भगवामय
जोधपुर। मर्यादा पुरूषोतम भगवान श्रीराम का प्राकटोत्सव रामनवमी पर्व शनिवार को पूरे शहर में धूमधाम व श्रद्धापूर्वक मनाया गया। इस अवसर पर भगवान श्रीराम की भव्य शोभायात्रा निकाली गई जिसमें कई धार्मिक व सामाजिक झांकियां शामिल हुई। इन झांकियों ने शहरवासियों का मन मोह लिया। शोभायात्रा के कारण आज पूरा शहर भगवा रंग में डूबा नजर आया।
हर वर्ष की भांति इस बार भी विश्व हिन्दू परिषद द्वारा संचालित श्री रामनवमी महोत्सव समिति के तत्वावधान में करीब तीन सौ से अधिक झंाकियों के साथ रामनवमी की शोभायात्रा निकाली गई। घंटाघर में प्रात: मुख्य पूजा के बाद शोभायात्रा रवाना हुई। यहां सन्त अमृताराम, सन्त अचलानन्दगिरि महाराज सहित कई सन्तों ने रामदरबार की पूजा अर्चना की। इस अवसर पर जोधपुर लोकसभा सीट से भाजपा प्रत्याशी व केंद्रीय राज्यमंत्री गजेंद्रसिंह शेखावत और कांग्रेस प्रत्याशी वैभव गहलोत, शहर विधायक मनीषा पंवार ने भी रामदरबार की पूजा अर्चना की। विश्व हिंदू परिषद के सभी 14 प्रखंड पुराना शहर, बागर, सूरसागर, चांदपोल, सरदारपुरा, रातानाडा, महामंदिर, मंडोर, बनाड़, मसूरिया, बासनी, नंदनवन, केशवनगर और सांगरिया से लघु यात्राओं के रूप में घंटाघर पहुंचकर मुख्य शोभायात्रा में शरीक हुई।
तीन सौ से अधिक झांकियां
समिति अध्यक्ष प्रदीप सांखला ने बताया कि शोभायात्रा में विभिन्न भजन मण्डलियां, मंगल कलश सहित महिलाएं, बैण्डों के साथ लगभग तीन सौ झंाकियां शामिल हुई। भगवान राम, शिव-पार्वती, राधा-कृष्ण, गजानंद, देवी मां सहित अन्य देवी-देवताआें की झांकियां आकर्षण का केंद्र रही। इस बार शोभायात्रा में सबसे पहले 21 व्यायामशाला के दलपति तथा सुरेन्द्र बहादुरसिंह के नेतृत्व में हिन्दू युवा अपनी शौर्यता का प्रदर्शन तथा करतब दिखाते हुए आगे चल रहे थे। इनके पीछे राम दरबार और बाद में सामाजिक, सांस्कृतिक, धार्मिक व समसामयिक झांकियां चल रही थी। झांकियों के साथ भजन मंडलियां, घोड़े, रथ, बैंड, शहनाई वादक आदि सम्मिलित हुए। इसके साथ लोककला का चकरी नृत्य तथा पंजाबी भांगड़ा इस बार विशेष आकर्षण का केन्द्र रहा। बजरंग दल के सभी 14 प्रखण्डों से युवाओं की भगवा रैलियों के साथ विहिप के महिला संगठनों की टोलियां भी शोभायात्रा में शामिल हुई। शोभायात्रा में गाछा समाज की महिलाएं कलश यात्रा और स्वर्णकार समाज की गणगौर यात्रा के अतिरिक्त प्रभु श्रीराम की पालकी यात्रा भी थी। शोभायात्रा में विशेष आकर्षण राम सेतू की झांकी तथा हमारी योद्धा सेना ने जो उरी तथा पुलवामा की सर्र्जिकल व एयर स्ट्राइक द्वारा दुश्मन के छक्के छुड़ाएं उसकी झांकी शामिल हुई। देश में चुनाव के चलते मतदान का संदेश देने वाली झांकी भी शामिल की गई।
कई स्थानों पर हुआ स्वागत
शोभायात्रा का करीब सौ से अधिक स्थानों पर स्वागत किया गया। कई संस्था-संगठनों ने शोभायात्रा में करतब दिखा रहे अखाड़ों के उस्ताद, संत, रामनवमी महोत्सव समिति के पदाधिकारियों का फूलमाला पहनाकर व साफा बांधकर स्वागत किया। इसमें विशेष रूप से इकमीनार मस्जिद के पास मुस्लिम समाज के लोगों ने शोभायात्रा का स्वागत किया। शहर के प्रमुख संतों तथा समाज बिरादरी के प्रमुखों का विहिप द्वारा स्वागत मंच पर किया गया। रास्ते में अनेक स्थानों पर राम भक्तों ने शोभायात्रा में शामिल लोगों को छाछ, शिकंजी, कोल्डड्रिंक्स, आइसक्रीम, कचौरी, बिस्किट आदि का वितरण किया।
इन अखाड़ों ने दिखाए करतब
नगर के प्रमुख अखाड़ों के आर्यवीरों ने शोभायात्रा में अपना शारीरिक सौष्ठव प्रदर्शन दिखाया। शोभायात्रा के आगे नगर के प्रमुख अखाड़े आर्य मरूधर व्यायामशाला, ओम दल व्यायामशाला, शिवदल व्यायामशाला, रामादल व्यायामशाला, हिन्द शक्तिदल, कृष्ण जिम्नेजियम, श्रीराम व्याामशाला, बजरंगदल व्यायामशाला, महादेव व्यायामशाला, पवन पुत्र व्यायामशाला, हनुमान शक्ति दल, भरत दल दुर्गावाहिनी, भगवान दल, मारवाड़ अखाड़ा संघ आदि के कार्यकर्ता करतब दिखाते चल रहे थे।