न्यूजीलैंड ने टॉस जीत चुनी बल्लेबाजी

7

लॉर्ड्स। न्यूजीलैंड ने रविवार को क्रिकेट वर्ल्ड कप के फाइनल में इंग्लैंड के खिलाफ टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया। दोनों टीमों में कोई बदलाव नहीं किया गया।

सुबह हुई हल्की बारिश की वजह से आउटफील्टॉड थोड़ा गीला हो गया है इसके चलते टॉस में 15 मिनट की देरी हुई। इस मैच के जरिए इतिहास रचा जाएगा क्योंकि इन टीमों में से कोई भी जीते दुनिया का नया चैंपियन मिलना तय है। इंग्लैंड चौथी बार तो न्यूजीलैंड दूसरी बार खिताबी मुकाबले में खेल रहा है।

दोनों टीमों के हालिया प्रदर्शन को देखते हुए इंग्लैंड का पलड़ा मैच में भारी नजर आ रहा है। इन दोनों टीमों के बीच राउंड रॉबिन दौर में हुआ मुकाबला भी इंग्लैंड ने आसानी से जीता था। इंग्लैंड ने पिछले चार में से तीन मैच जीते जबकि न्यूजीलैंड ने पिछले चार में से तीन मैच हारे हैं।

इंग्लैंड के जॉनी बेयरस्टो सेमीफाइनल में इंग्लैंड के खिलाफ ग्रोइन की परेशानी से जूझ रहे थे लेकिन अब वे पूरी तरह फिट है इसके चलते इंग्लिश टीम में किसी बदलाव की संभावना नहीं दिख रही है। इंग्लैंड ने इस वर्ल्ड कप में 6 मैच जीते जबकि उसे 3 मैचों में हार झेलनी पड़ी थी।

इंग्लैंड के जो रूट 10 मैचों में 68.62 की औसत से 549 रन बना चुके है। जॉनी बेयरस्टो 10 मैचों में 496 और जेसन रॉय 7 मैचों में 426 रन बना चुके है। बेन स्टोक्स के नाम भी 381 रन दर्ज है। इंग्लैंड के सभी बल्लेबाज फॉर्म में चल रहे हैं और कीवी गेंदबाजों ट्रेंट बोल्ट, मैट हैनरी और लोकी फर्ग्यूसन के लिए उन्हें रोकना कड़ी चुनौती होगी। इंग्लैंड के जोफ्रा आर्चर 19 और मार्क वुड 17 विकेट ले चुके हैं।

न्यूजीलैंड के हैनरी निकोल्स को सेमीफाइनल के दौरान हैमस्ट्रिंग में खिंचाव आ गया था इसके चलते शनिवार को उन्हें फिटनेस टेस्ट से गुजरना पड़ा। उन्हें कोई परेशानी नहीं दिख रही है और इसके चलते कीवी टीम में बदलाव की संभावना कम है। भारत पर सेमीफाइनल में 18 रनों से जीत दर्ज करने की वजह से न्यूजीलैंड के हौसले भी बुलंद होंगे। कीवी टीम की वर्ल्ड कप में शुरुआत शानदार रही थी लेकिन बाद में लगातार तीन हार की वजह से उसका अभियान पटरी से उतर गया था। भारत के खिलाफ जीत ने इस टीम के लिए संजीवनी का काम किया है। कप्तान केन विलियम्सन 9 मैचों में 548 रन बना चुके हैं लेकिन उन्हें दूसरे छोर से उचित सहयोग नहीं मिल रहा है। टीम प्रबंधन को इस महत्वपूर्ण मैच में रॉस टेलर और मार्टिन गप्टिल से बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद रहेगी।