बीकानेर संभाग से बड़ी खबर – थानाधिकारी समेत करीब आधा दर्जन पुलिसकर्मियों के खिलाफ गैंगरेप का मामला दर्ज

289

-खाकी पर लगा एक और दाग

चूरू में पुलिस की हिरासत में युवक की मौत और मृतक की भाभी की ओर से पुलिस पर लगाए गए गंभीर आरोपों के बाद सरदारशहर के तत्कालीन थानाधिकारी समेत करीब आधा दर्जन पुलिसकर्मियों के खिलाफ गैंगरेप और मारपीट का मामला दर्ज किया गया है. अब मामले की जांच सीआईडी सीबी जयपुर करेगी. अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक प्रकाश शर्मा ने बताया कि पुलिस हिरासत में मारे गए युवक की भाभी के पर्चा बयान के आधार पर सरदारशहर थाने में घटना के समय थानाप्रभारी रहे रणवीर सिंह और पांच-छह अन्य पुलिसकर्मियों के खिलाफ गैंगरेप और मारपीट का मामला दर्ज किया गया है. उनके खिलाफ दुष्कर्म की धारा 376, 376(2), 323, 343, 143 ह्यष् ह्यह्ल एक्ट में मामला किया गया है. पीड़िता का अभी जयपुर के सवाई मानसिंह अस्पताल में इलाज चल रहा है.

6 जुलाई को हुई थी पुलिस हिरासत में मौत

उल्लेखनीय है कि चूरू में गत ६ जुलाई की रात को सरदारशहर पुलिस की हिरासत में चोरी के आरोपी युवक नेमीचंद मौत हो गई थी. युवक की मौत के बाद उसकी भाभी ने पुलिस पर मारपीट और सामूहिक दुष्कर्म के गंभीर आरोप लगाए थे. इस मामले में तत्कालीन थानाप्रभारी रणवीर सिंह समेत आठ पुलिसकर्मियों को सस्पेंड और २६ पुलिसकर्मियों को लाइन हाजिर कर पूरा थाना स्टाफ बदल दिया गया है. वहीं लापरवाही बरतने पर सीएम के आदेश पर चूरू पुलिस अधीक्षक राजेन्द्र कुमार को एपीओ और सरदारशहर पुलिस उपाधीक्षक भंवरलाल मेघवाल को भी सस्पेंड कर दिया गया है. प्रारंभिक जांच में सामने आया कि नेमीचंद की मौत थाने में पिटाई के कारण हुई थी. इस मामले में अब तक एसपी और डीएसपी समेत 36 पुलिस वालों पर कार्रवाई हो चुकी है. अब पुलिसकर्मियों के खिलाफ गैंगरेप का मामला दर्ज हुआ है.